बुधवार, 2 जून 2010

लालमहल को रौंद कर विहँस रहा तृणमूल

लालमहल को रौंद कर विहँस रहा तृणमूल
लेफ्ट हैंड में जा चुभा सख्त-सियासी-सूल
सख्त-सियासी-सूल, 'पीर' बढ़ रही निरंतर
चली कोलकाता में ममता लोकल जमकर
दिव्यदृष्टि बुद्धा बाबा बिलखें पल-पल को
विहँस रहा तृणमूल रौंद कर लालमहल को

2 टिप्‍पणियां:

आचार्य जी ने कहा…

क्रोध पर नियंत्रण स्वभाविक व्यवहार से ही संभव है जो साधना से कम नहीं है।

आइये क्रोध को शांत करने का उपाय अपनायें !

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

sab kuchh raajneeti se paripurn

http://sanjaykuamr.blogspot.com/

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव