मंगलवार, 29 दिसंबर 2009

दिल्ली आना है अगर दीजे एंट्री फीस

शीला अंटी बोलतीं साफ निपोरे खीस
दिल्ली आना है अगर दीजे एंट्री फीस
दीजे एंट्री फीस, रोज पॉकेट कटवाएं
बढ़ा कमाई नित्य प्रदूषण भी घटवाएं
दिव्यदृष्टि चिंतातुर दीखें बबली-बंटी
साफ निपोरे खीस बोलतीं शीला अंटी

गुरुवार, 24 दिसंबर 2009

तेलंगाना पर लिए चिदम्बरम यू-टर्न

पीएम-प्रॉमिस से नहीं कांग्रेस कंसर्न
तेलंगाना पर लिए चिदम्बरम यू-टर्न
चिदम्बरम यू-टर्न, पढ़ें कानूनी पोथी
करते टालमटोल दलीलें देकर थोथी
दिव्यदृष्टि आए दिन ढूंढ़ें नया बहाना
भले धधकता फिरे अहनिर्श तेलंगाना

बुधवार, 23 दिसंबर 2009

नहीं किसी की भी गली झारखंड में दाल

सभी दलों की खींच दी मतदाता ने खाल
नहीं किसी की भी गली झारखंड में दाल
झारखंड में दाल भात भी बिखरा जमकर
ताक रहे इक-दूजे का मुंह लीडर थमकर
दिव्यदृष्टि अब जो दे जितनी ऊंची 'बोली'
मिले उसी को खीर सजे सत्ता की डोली

मंगलवार, 22 दिसंबर 2009

जब तबना रहेगा लक सरकारी मेहमान

जब तबना रहेगा लक सरकारी मेहमान
तंग तब तलक कोर्ट को करे खूब हैवान
करे खूब हैवान, बड़ा अजमल नाशुकरा
रोज बदलता बात बयानों से भी मुकरा
दिव्यदृष्टि इसलिए नहीं उड़वाओ हांसी
उठा जरूरी कदम चढ़ाओ इसको फांसी

रविवार, 20 दिसंबर 2009

हे सुंदरियो झाड़ दो विज्ञापन की गर्द

हे सुंदरियो झाड़ दो विज्ञापन की गर्द
मानव दाढ़ी, मूंछ से कहलाता है मर्द
कहलाता है मर्द यही मशहूर कहावत
देता उन्हें समाज मानमय मीठी दावत
उन्हें भूलसे दिव्यदृष्टि बोलो मत लेजी
बेशक अपने हेतु चुनो मुछमुंडा क्रेजी

शनिवार, 19 दिसंबर 2009

मिस्टर धोनी पर लगा दो मैचों का बैन

मिस्टर धोनी पर लगा दो मैचों का बैन
परेशान फिरते दिवस नींद नैन नहिं रैन
नींद नैन नहिं रैन, किये घातक नादानी
रेफरी ने दी सजा न भाये भोजन-पानी
दिव्यदृष्टि ले गए 'गेस्ट' मैदान मारकर
दो मैचों का बैन लगा मिस्टर धोनी पर

शुक्रवार, 18 दिसंबर 2009

अपने पूर्व बयान से मुकर गया जल्लाद

दहशतगर्द कसाब को फांसी आई याद
अपने पूर्व बयान से मुकर गया जल्लाद
मुकर गया जल्लाद हुई ज्यों ही सुनवाई
बतलाता निर्दोष स्वयं को आज कसाई
दिव्यदृष्टि है ढीठ बहुत ये जालिम बंदा
अत: गले में जल्द डालिए इसके फंदा

बुधवार, 16 दिसंबर 2009

तेलंगाना बन गया कांग्रेस की फांस

तेलंगाना बन गया कांग्रेस की फांस
रुष्ट जगन रेड्डी नहीं छोड़ें कोई चांस
छोड़ें कोई चांस टीस मन में है भारी
एमपी-एमले उधर कर रहे मारामारी
दिव्यदृष्टि संसद में नित होता हंगामा
कांग्रेस की फांस बन गया तेलंगाना

मंगलवार, 15 दिसंबर 2009

राजकोट में रनों का लगा दिया अंबार

राजकोट में रनों का लगा दिया अंबार
सिंहलियों को खूब ही पड़ी करारी मार
पड़ी करारी मार आखिरी दम तक जूझे
भारत की तकरार नहीं वे फिर भी बूझे
दिव्यदृष्टि रणनीति रही धोनी की तगड़ी
तभी बच सकी है प्यारे वनडे में पगड़ी

यह मैं हूं

यह मैं हूं