शुक्रवार, 18 दिसंबर 2009

अपने पूर्व बयान से मुकर गया जल्लाद

दहशतगर्द कसाब को फांसी आई याद
अपने पूर्व बयान से मुकर गया जल्लाद
मुकर गया जल्लाद हुई ज्यों ही सुनवाई
बतलाता निर्दोष स्वयं को आज कसाई
दिव्यदृष्टि है ढीठ बहुत ये जालिम बंदा
अत: गले में जल्द डालिए इसके फंदा

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं