मंगलवार, 22 दिसंबर 2009

जब तबना रहेगा लक सरकारी मेहमान

जब तबना रहेगा लक सरकारी मेहमान
तंग तब तलक कोर्ट को करे खूब हैवान
करे खूब हैवान, बड़ा अजमल नाशुकरा
रोज बदलता बात बयानों से भी मुकरा
दिव्यदृष्टि इसलिए नहीं उड़वाओ हांसी
उठा जरूरी कदम चढ़ाओ इसको फांसी

यह मैं हूं

यह मैं हूं