सोमवार, 8 मार्च 2010

आरक्षण के नाम पर यादव ब्रदर उदास

नारी बिल आया नहीं उन्हें जरा भी रास
आरक्षण के नाम पर यादव ब्रदर उदास
यादव ब्रदर उदास, साइकिल वाले रूठे
लालटेन वालों के लटके अजब-अनूठे
दिव्यदृष्टि चक्कर वालों की न्यारी माया
उन्हें जरा भी रास नहीं नारी बिल आया।

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव