बुधवार, 4 जून 2008

धीरज धारण कीजिए भाई राम गरीब

धीरज धारण कीजिए भाई राम गरीब
आम आदमी के बहुत है सरकार करीब
है सरकार करीब, तभी तो उसे पता है
बाकी कितना माल जेब में और बचा है
करें देवड़ा दिव्यदृष्टि जब तक निस्तारण
भाई राम गरीब कीजिए धीरज धारण।

1 टिप्पणी:

बाल किशन ने कहा…

हमेशा की तरह मारक.
बधाई.

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव