गुरुवार, 19 जून 2008

सोच समझ कर करें वही अंपायर फायर

असर लेखनी का पड़ा नियम हुए तब्दील
क्रिकेट खिलाड़ी कर रहे बढ़िया इसको फील
बढ़िया इसको फील उठे यदि नाहक ऊंगली
प्लेयर करे अपील उसी दम फेंके गुगली
दिव्यदृष्टि बनते जो अब तक जनरल डायर
सोच समझ कर करें वही अंपायर फायर

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव