मंगलवार, 3 नवंबर 2009

क्रूर कैबिनेट कंचुकी कामयाब कहलाय

पी जाए जो माह में पांच लाख की चाय
क्रूर कैबिनेट कंचुकी कामयाब कहलाय
कामयाब कहलाय, किए बिन कोई देरी
चाहो अगर 'प्रमाण' पहुंच लो पुड्डूचेरी
दिव्यदृष्टि धिक्कार खूब पब्लिक से पाए
पांच लाख की चाय माह में जो पी जाए

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव