सोमवार, 4 जनवरी 2010

बतलाये डडवाल जुर्म का 'ग्राफ' घटा है

गए साल में पुलिस ने कीता खूब कमाल
नए साल में चहक कर बतलाये डडवाल
बतलाये डडवाल जुर्म का 'ग्राफ' घटा है
घटनाओं का जाल दीखता साफ कटा है
दिव्यदृष्टि कथनी-करनी में लेकिन अन्तर
तभी उड़न-छू हुए 'जंग-जू' तीन भयंकर

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव