गुरुवार, 14 जनवरी 2010

मंत्री जी की बात को वैज्ञानिक दें कान

मंत्री जी की बात को वैज्ञानिक दें कान
बैठक में वरना उन्हें हो सकता नुकसान
हो सकता नुकसान, व्यर्थ ही डांटे जाएं
अपमानित हों सरेआम जाहिल कहलाएं
दिव्यदृष्टि बेशक मत खाएं 'बैंगन' बीटी
किंतु भूलकर नहीं बजाएं आलिम सीटी

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव