शुक्रवार, 22 जनवरी 2010

मैडम ने बजवा दिया उसी भक्त का बैंड

माया को जो मून पर गिफ्ट किए था लैंड
मैडम ने बजवा दिया उसी भक्त का बैंड
उसी भक्त का बैंड , खूब देवी खिसिकाई
दल से बाहर किया तुरत औकात दिखाई
दिव्यदृष्टि मत भेज ' बर्थ डे ' पर तू टुकड़ा
वरना मिले मलाल मलिन हो तेरा मुखड़ा

3 टिप्‍पणियां:

सतीश सक्सेना ने कहा…

भक्तों के साथ ऐसा ही होना चाहिए :-)
PS: please remove word verification creating inconvenience and no help.

सुमो ने कहा…

चांद पर जमीन बेचने वाले लोगों को मूर्ख बनाते हैं और कुछ लोग बेबकूफ होते हैं वह बेबकूफ बन जाते हैं

माया मेमसाब को बेबकूफ बनाने की कोशिश!!!!!

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

माल भेजने के बजाय शगूफ़ा भेजेगा तो और क्या होगा.

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव