बुधवार, 13 जनवरी 2010

जिसने कर्जा लिया आबरू उसने खोई

बड़ा भयंकर नाम है कहते जिसे उधार
किंतु बड़ा कुख्यात है जाने सब संसार
जाने सब संसार मगर बचता नहिं कोई
जिसने कर्जा लिया आबरू उसने खोई
दिव्यदृष्टि अंजाम बड़े इसके प्रलंयकर
कहते जिसे उधार नाम है बड़ा भयंकर

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव