मंगलवार, 19 जनवरी 2010

टेंट-प्रूफ हो बैठक भूलें पांच सितारा

तंबू-डेरा संस्कृति का आया फिर दौर
बीजेपी अध्यक्ष का हुक्म काबिलेगौर
हुक्म काबिलेगौर, उछाला नूतन नारा
टेंट-प्रूफ हो बैठक भूलें पांच सितारा
दिव्यदृष्टि वर्कर लीडर में कम हो दूरी
अत: सियासी झुग्गी यारो लगे जरूरी

1 टिप्पणी:

Dipak 'Mashal' ने कहा…

ye to deshhit me hai...
Jai Hind...

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव