शुक्रवार, 22 मई 2009

पहले जैसे हैं नहीं मनमोहन 'कमजोर'

पहले जैसे हैं नहीं मनमोहन 'कमजोर'
इस चुनाव में ऊर्जा काफी लिए बटोर
काफी लिए बटोर, नहीं कोई लाचारी
मिला समर्थन उन्हें बिना मांगे ही भारी
दिव्यदृष्टि यह सच्चाई करुणा पहचानें
कुनबे खातिर रार नहीं वह नाहक ठानें

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव