गुरुवार, 28 मई 2009

मंत्री की भरमार जेब पर बोझ बढ़ेगा

एक तरफ तो देश में है मंदी की मार
किंतु दूसरी तरफ है मंत्री की भरमार
मंत्री की भरमार जेब पर बोझ बढ़ेगा
आम आदमी का पारा दिनरात चढ़ेगा
दिव्यदृष्टि बेकाबू हो बेशक महंगाई
मन्नूभाई को फिर भी दे थोक बधाई

3 टिप्‍पणियां:

अनिल कान्त : ने कहा…

to isse netaon par kya fark padega !!

Udan Tashtari ने कहा…

अब थोक बधाई देने में ही फायदा है और तो कर भी क्या सकते हैं.

संगीता पुरी ने कहा…

सही कहा .; थोक में ही बधाई देनी होगी।

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव