सोमवार, 18 मई 2009

पासवान का कारवां छूट गया है दूर

पासवान का कारवां छूट गया है दूर
हाजीपुर में हार की मार पड़ी भरपूर
मार पड़ी भरपूर, नहीं ले पाए लोहा
फिर भी जोड़ें हाथ निरंतर गाएं दोहा
दिव्यदृष्टि ऐरा-गैरा कोई पद दीजे
मनमोहनजी मगर मंत्रिमंडल में लीजे

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव