सोमवार, 6 जुलाई 2009

गिरमिटियों के देश में पाये ज्यों ही जीत

गिरमिटियों के देश में पाये ज्यों ही जीत
सब को बतलाने लगे धोनी त्यों ही मीत
धोनी त्यों ही मीत तीत अब लगे न कोई
करें सभी से प्रीत नहीं कतई बदखोई
दिव्यदृष्टि विश्वास सभी के लिए जताएं
इसीलिए युवी को दल की रीढ़ बताएं

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव