शुक्रवार, 17 जुलाई 2009

रोजगार की राशि किंतु हाथी खा जाये

पुन: अमेठी क्षेत्र में राहुल दिए बयान
नहीं नरेगा पर जरा है माया का ध्यान
है माया का ध्यान केन्द पैसा भिजवाए
रोजगार की राशि किंतु हाथी खा जाये
काम न कोई दिव्यदृष्टि कुछ दीखे दूजा
बुत बनवाएं रोज करें अपनी शव पूजा

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव