गुरुवार, 20 अगस्त 2009

पेट भरें किस भांति जुगत बतलाओ पुत्तर

महंगाई की मार से पीड़ित चिरकुट लाल
पूछ रहे सरकार से 'जलता' हुआ सवाल
'जलता' हुआ सवाल दीजिए मोहन उत्तर
पेट भरें किस भांति जुगत बतलाओ पुत्तर
दिव्यदृष्टि जो महंगा करते नित्य 'निवाला'
कब तक उनका साथ निभाओगे तुम लाला

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव