शनिवार, 29 अगस्त 2009

बहुत भाजपा में बढ़ी जब जूतम पैजार

बहुत भाजपा में बढ़ी जब जूतम पैजार
चिंता में घुलने लगा तभी संघ परिवार
तभी संघ परिवार भागवत दिल्ली आए
स्वयंसेवकों को जमकर उपदेश सुनाए
दिव्यदृष्टि जो भी नेता बन रहा समस्या
वही छोड़ दे कुर्सी जाकर करे तपस्या

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव