गुरुवार, 20 अगस्त 2009

मन राखी सावंत का बहुत रहा है डोल

मन राखी सावंत का बहुत रहा है डोल
दूल्हे के प्रति दोस्तो बदले उनके बोल
बदले उनके बोल, हो रही है यह चर्चा
उठा न पायेगा इलेश दुल्हन का खर्चा
दिव्यदृष्टि पहले वह ढूंढ़े कोई 'खोली'
तभी चढ़े बारात सजे शादी की डोली

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव