सोमवार, 26 मई 2008

खूब लड़े रणबांकुरे जीता राजस्थान

खूब लड़े रणबांकुरे जीता राजस्थान
पिटे मुंबई इंडियन मिला न जीवनदान
मिला न जीवनदान रह गई छोटी चादर
फिर भी बढ़िया खेल दिखाए खूब बिरादर
' दिव्यदृष्टि ' यदि किस्मत थोड़ा साथ निभाती
' नन्हे मुन्ने ' की चौड़ी हो जाती छाती

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव