सोमवार, 23 मार्च 2009

अगर विषवमन से मिले बीजेपी को वोट

अगर विषवमन से मिले बीजेपी को वोट
तो भाषा में वरुण की उसे न दीखे खोट
उसे न दीखे खोट, चोट बेशक हो गहरी
सुने न फिर भी चीख बीजेपी गूंगी-बहरी
दिव्यदृष्टि पा गए अगर अडवानी सत्ता
लोकलाज, नैतिकता का कट जाए पत्ता

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव