सोमवार, 30 मार्च 2009

फर्जी डिग्री का सारा किस्सा खुल जाए

संजयसुत जिस सनद का पीट रहे हैं ढोल
साफ नजर आने लगी उसकी सारी पोल
उसकी सारी पोल, खोलते हैं सहपाठी
कहें तथ्य से परे वरुण की है कदकाठी
'दिव्यदृष्टि' यदि शासन इसकी जांच कराए
फर्जी डिग्री का सारा किस्सा खुल जाए

1 टिप्पणी:

आशीष कुमार 'अंशु' ने कहा…

आपकी बातों में बड़ा भेद 'सा' है ...

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव