गुरुवार, 19 मार्च 2009

कल जो बेटी थी गई अडवानी से रूठ

कल जो बेटी थी गई अडवानी से रूठ
वही दुबारा खुश हुई सच मानें या झूठ
सच मानें या झूठ, सियासी पहने जेवर
उमा भारती दिखलातीं नित नूतन तेवर
दिव्यदृष्टि अब सिंधी पीएम खातिर बेकल
अडवानी से रूठ गई थी बेटी जो कल।

1 टिप्पणी:

Harkirat Haqeer ने कहा…

कल जो बेटी थी गई अडवानी से रूठ
वही दुबारा खुश हुई सच मानें या झूठ
सच मानें या झूठ, सियासी पहने जेवर
उमा भारती दिखलातीं नित नूतन तेवर
दिव्यदृष्टि अब सिंधी पीएम खातिर बेकल
अडवानी से रूठ गई थी बेटी जो कल। ...

waah...! Bhot tikha vyang...!!

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव