सोमवार, 9 मार्च 2009

लेक्चर देने आ गए बेशक हिन्दुस्तान

लेक्चर देने आ गए बेशक हिन्दुस्तान
मियां मुशर्रफ को मगर मिला न पूरा मान
मिला न पूरा मान, शान-शौकत में घाटा
मुसलमान नाराज दूर से कहते टाटा
दिव्यदृष्टि मनमोहन ने भी कतरे हैं पर
बेशक हिन्दुस्तान आ गए देने लेक्चर

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव