सोमवार, 28 अप्रैल 2008

बहुत धुलाई तेज करे रांची का बबुआ

रांची का बबुआ करे बहुत धुलाई तेज
फैल गई बेंगलुरु में खबर सनसनीखेज
खबर सनसनीखेज सोप सीएसके रगड़े
मारे 'धोनी पाट' दाग मिट जाएं तगड़े
'दिव्यदृष्टि' काटे चिकनाई भर-भर झबुआ
बहुत धुलाई तेज करे रांची का बबुआ

1 टिप्पणी:

Rajesh Roshan ने कहा…

रांची में जो लोकल भाषा बोली जाती है उसे नागपुरी कहते हैं अगर नागपुरी में कहा जाए तो कहेंगे रांची कर छोंड़ा

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव