मंगलवार, 12 अगस्त 2008

कीमत हुई वसूल दक्षिणा शिबू पाए

नहीं गली जब केंद्र में कतई उनकी दाल
चीफ मिनिस्टर की तभी चले गुरुजी चाल
चले गुरुजी चाल, सोनिया को धमकाए
कीमत हुई वसूल दक्षिणा शिबू पाए
दिव्यदृष्टि मत भर प्यारे तू आहें ठंडी
राजनीति बन गई हिन्द में घोड़ा मंडी।

1 टिप्पणी:

रंजना ने कहा…

bahut sahi,sateek likha aapne.

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव