गुरुवार, 25 सितंबर 2008

टाटा ने सिंगूर से बिस्तर लिया समेट

टाटा ने सिंगूर से बिस्तर लिया समेट
ममता बैनर्जी करें अब खेती भरपेट
अब खेती भरपेट , सियासी पौध उगाएं
घर आए तृणमूल उसी को बेशक खाएं
दिव्यदृष्टि सूबे में हो चहुंदिशि कंगाली
यही सोच कर हाथ मले बुद्धा बंगाली

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव