मंगलवार, 1 सितंबर 2009

सैनिक खाली पेट जीतता जंग न बेटा

खंडित भारत का उसे दीखे स्वप्न हसीन
लेकिन अपनी कैफियत भूल रहा है चीन
भूल रहा है चीन, बिके ज़ालिम के दाने
अर्थव्यवस्था चौपट फिर भी मुक्का ताने
'दिव्यदृष्टि' यह तथ्य नहीं कतई सपरेटा
सैनिक 'खाली पेट' जीतता जंग न बेटा

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव