शनिवार, 26 सितंबर 2009

मना बर्थडे केक हमारे घर भिजवाएं

हुए छियासी साल के दादा देवानंद
सतहत्तर से पी रहे मनमोहन मकरंद
मनमोहन मकरंद मुबारक मेवा मस्ती
रहे सलामत प्रेमपुजारी की भी बस्ती
हम दोनों को दिव्यदृष्टि दे रहे दुआएं
मना बर्थडे केक हमारे घर भिजवाएं

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव