मंगलवार, 22 सितंबर 2009

पांच बरस तक आप ढूंढ़ते रह जाओगे

रह जाओगे ढूंढ़ते पांच बरस तक आप
अगर चुनोगे सांसद हीरो, प्लेयर छाप
हीरो, प्लेयर छाप, दुबारा नजर न आएं
अलबत्ता वे फिल्म, खेल में रंग जमाएं
दिव्यदृष्टि ऐसे प्रतिनिधि पा पछताओगे
पांच बरस तक आप ढूंढ़ते रह जाओगे

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव