गुरुवार, 3 सितंबर 2009

सौदेबाजी में अब तजें कमीशनखोरी

घटिया हेलिकॉप्टर ले लेता जो जान
बेड़े से बाहर करें जल्द उसे श्रीमान
जल्द उसे श्रीमान नसीहत मानें मोरी
सौदेबाजी में अब तजें कमीशनखोरी
दिव्यदृष्टि रेड्डी जैसों की जान बचायें
नहीं चीलगाड़ी घातक भारत में लायें

1 टिप्पणी:

इष्ट देव सांकृत्यायन ने कहा…

अजी हुज़ूर! अपनी ही जान बचाने के लिए जिन्हें ये तैनात करते हैं, उनके लिए जो बुलेटप्रूफ जैकेट लाते हैं उसमें भी कमीशनखोरी से बाज नहीं आते. भला हेलीकॉप्टर को कैसे छोड़ दें?

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव