शनिवार, 3 अक्तूबर 2009

कांग्रेस छलका रही दलित-प्रेम का जाम

कांग्रेस छलका रही दलित-प्रेम का जाम
शबरी-आश्रम में अतः पहुंच गये श्रीराम
पहुंच गए श्रीराम, नाम 'बापू' का लेकर
श्रवण समस्या किए सांत्वना भारी देकर
दिव्यदृष्टि यदि राजभवन सुख चाहें माता
तो बस यही उपायः तजें 'माया' से नाता

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव