बुधवार, 7 अक्तूबर 2009

बन कर 'भागीदार' समस्या दर्ज कराएं

दिल्ली वालों से करें शीला नेक अपील
फौरन फोन घुमाइए अगर बैड हो फील
अगर बैड हो फील, राह में दीखे गड्ढा
या हो गंदा पार्क बना कचरे का अड्डा
दिव्यदृष्टि सुन्दर शहरी का फर्ज निभाएं
बन कर 'भागीदार' समस्या दर्ज कराएं
दीखे पहली नजर में उत्तम बहुत विचार
इसीलिए तो कर रहा शासन खूब प्रचार
शासन खूब प्रचार, हेल्पलाइन बनवाये
जगह-जगह विज्ञापन में नम्बर छपवाये
दिव्यदृष्टि यह किन्तु बतायें शीला अंटी
कौन लगाएगा नौकरशाही को संटी।

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव