गुरुवार, 16 अप्रैल 2009

सपने में भी दूं नहीं कोई गलत बयान

कहें कोर्ट के सामने पकड़े दोनों कान
सपने में भी दूं नहीं कोई गलत बयान
कोई गलत बयान करें विनती करजोरे
शपथपत्र दे वरुण यही कर रहे निहोरे
बावजूद इसके न्यायालय पटा नहीं है
मिला महज पेरोल रासुका हटा नहीं है

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव