गुरुवार, 23 अप्रैल 2009

जियो हजारों साल तुम नन्हे सचिन महान

जियो हजारों साल तुम नन्हे सचिन महान
तुम्हें समझ कर देवता पूजे सकल जहान
पूजे सकल जहान, करे श्रद्धावश आदर
नतमस्तक हों लोग समर्थन पाओ सादर
'आउट' करने की तुमको जो करे ढिठाई
दिव्यदृष्टि उसको भी देना केक-मिठाई

कोई टिप्पणी नहीं:

यह मैं हूं

यह मैं हूं

ब्लॉग आर्काइव